Bhoot wali film

बेस्ट भूतिया फिल्में

हमारे आधुनिक जीवन में फिल्में हमारे मनोरंजन का बहुत बड़ा माध्यम बन चुकी है। ये फिल्में भी कई प्रकार की होती हैं। कुछ होती हैं प्रेम को दर्शाने वाली, कुछ होती है मारधाड़ वाली, और कुछ होती है, हॉरर नाइट्स याने की भूतिया फिल्में। भूत, प्रेत, चुड़ैल, डायन ऐसी कई सारी योनिया या कई सारे डरावने पात्र फिल्मों में दिखाए जाते हैं। दोस्तों भूतिया फिल्म देखते समय आपने उन फिल्मों में भूत, प्रेत, चुड़ैल को उड़ते हुए जरूर देखा होगा।  इनके उड़ने के साथ-साथ इनके आने, गायब होने, चिल्लाने, पेड़ों पर उल्टा लटकने, छतों पर लटकने जैसी घटनाएं सामान्य होती हैं। जिन्हें देखकर हमें काफी हैरानी होती है। मगर यह सारे कार्य बेहतरीन तकनीक की सहायता से बहुत ही आसानी से किए जा सकते हैं। किंतु इसका यह अर्थ नहीं कि आप इसे घर पर ही करने लग जाए। यह सारे कार्य विशेषज्ञों की निगरानी में बहुत ही सतर्कता पूर्वक किए जाते हैं।वैसे तो दुनिया भर में कई सारी फिल्म इंडस्ट्री है। मगर भूतिया फिल्म बनाने के लिए बॉलीवुड और हॉलीवुड की सबसे ज्यादा चर्चित हैं। विश्व भर में हॉलीवुड से बेहतरीन भूतिया फिल्में कहीं नहीं बनी है। इसलिए विश्वभर में भूतिया फिल्में बनाने के मामले में सबसे पहला स्थान हॉलीवुड का है, और दूसरा स्थान है भारतीय फिल्म इंडस्ट्री यानी कि बॉलीवुड का। आज हम आपको दोनों ही मशहूर फिल्म इंडस्ट्री के सबसे खतरनाक भूतिया फिल्मों के विषय में बताने जा रहे हैं।

Bhoot wali film

2007 में आई फिल्म पैरानॉर्मल एक्टिविटी को सबसे खतरनाक भूतिया फिल्मों की श्रेणी में पहले नंबर का स्थान दिया गया था।इस फिल्म के दृश्य किसी के भी रोंगटे खड़े देने पर देने में सक्षम थे। इस फिल्म के अलावा - रेक, शटर, द फोर्थ काइंड, द स्ट्रेंगर्स, द एविल डैड, हॉलीवुड की कुछ बेहतरीन भूतिया फिल्में है।यह तो हुई कुछ सालों पुरानी फिल्मों की बात। परंतु हाल फिलहाल में ही हॉलीवुड की कई सारी फिल्में है, जिन्हें सबसे डरावनी फिल्म घोषित किया गया है। इन फिल्मों में सबसे पहला नाम  “ इनसीडियस चैप्टर” का आता है। इस फिल्म ने बहुत ही शानदार प्रदर्शन किया था और भूत प्रेत और आत्माओं की जिंदगी और उनके शरीर छोड़ने के बाद से लेकर उनके सफर को बहुत ही बेहतरीन तरीके से दर्शकों के सामने प्रस्तुत किया था। इसके बाद आती है फिल्म “ कन्ज्यूरिंग”  जो कि एक प्रेमी जोड़े की कहानी है। इसके बाद तीसरी फिल्म आती है “ कॉन्ट्रैक्टिड” जो कि एक रेप पीड़ित लड़की की कथा है। इस प्रकार पिछले कुछ सालों में भी बेहद डरावनी भूतिया फिल्में आई हैं। विज्ञान के इस बढ़ते युग में भी इन फिल्मों का इतनी कामयाबी हासिल करना यह बात साफ जाहिर करता है कि आज के युग में भी लोगों का भूत प्रेत पर विश्वास कायम है। चाहे विज्ञान ने कितनी तरक्की क्यों ना कर ली हो।

Bhoot wali film

अब यह तो हुई हॉलीवुड याने की विश्व स्तर के फिल्मों की बात। अब हम अगर अपने देश के याने की भारत की फिल्मों के बाद के करें तो, हम देखेंगे कि भारत में भूत - प्रेत का चलन कुछ ज्यादा ही है। अक्सर गांव या बड़े बड़े शहरों में भी हम देखते हैं कि जरा सा कुछ होता है तो लोग कहते हैं कि नजर लग गई यानी कि कहीं ना कहीं अंधविश्वास लोगों के मन में घर बनाकर बसा हुआ है। विज्ञान के इस बढ़तें युग में भी भारत जैसे देश में इसका प्रचलन चल ही रहा है। भारत में एक से बढ़कर एक बेहतरीन भूतिया फिल्में बनी है।यह तो हुई कुछ सालों पुरानी फिल्मों की बात। परंतु हाल फिलहाल में ही हॉलीवुड की कई सारी फिल्में है, जिन्हें सबसे डरावनी फिल्म घोषित किया गया है। इन फिल्मों में सबसे पहला नाम  “ इनसीडियस चैप्टर” का आता है। इस फिल्म ने बहुत ही शानदार प्रदर्शन किया था और भूत प्रेत और आत्माओं की जिंदगी और उनके शरीर छोड़ने के बाद से लेकर उनके सफर को बहुत ही बेहतरीन तरीके से दर्शकों के सामने प्रस्तुत किया था। इसके बाद आती है फिल्म “ कन्ज्यूरिंग”  जो कि एक प्रेमी जोड़े की कहानी है। इसके बाद तीसरी फिल्म आती है “ कॉन्ट्रैक्टिड” जो कि एक रेप पीड़ित लड़की की कथा है। इस प्रकार पिछले कुछ सालों में भी बेहद डरावनी भूतिया फिल्में आई हैं। विज्ञान के इस बढ़ते युग में भी इन फिल्मों का इतनी कामयाबी हासिल करना यह बात साफ जाहिर करता है कि आज के युग में भी लोगों का भूत प्रेत पर विश्वास कायम है। चाहे विज्ञान ने कितनी तरक्की क्यों ना कर ली हो।

Bhoot wali film

अब यह तो हुई हॉलीवुड याने की विश्व स्तर के फिल्मों की बात। अब हम अगर अपने देश के याने की भारत की फिल्मों के बाद के करें तो, हम देखेंगे कि भारत में भूत - प्रेत का चलन कुछ ज्यादा ही है। अक्सर गांव या बड़े बड़े शहरों में भी हम देखते हैं कि जरा सा कुछ होता है तो लोग कहते हैं कि नजर लग गई यानी कि कहीं ना कहीं अंधविश्वास लोगों के मन में घर बनाकर बसा हुआ है। विज्ञान के इस बढ़तें युग में भी भारत जैसे देश में इसका प्रचलन चल ही रहा है। भारत में एक से बढ़कर एक बेहतरीन भूतिया फिल्में बनी है।यह तो हुई कुछ सालों पुरानी फिल्मों की बात। परंतु हाल फिलहाल में ही हॉलीवुड की कई सारी फिल्में है, जिन्हें सबसे डरावनी फिल्म घोषित किया गया है। इन फिल्मों में सबसे पहला नाम  “ इनसीडियस चैप्टर” का आता है। इस फिल्म ने बहुत ही शानदार प्रदर्शन किया था और भूत प्रेत और आत्माओं की जिंदगी और उनके शरीर छोड़ने के बाद से लेकर उनके सफर को बहुत ही बेहतरीन तरीके से दर्शकों के सामने प्रस्तुत किया था। इसके बाद आती है फिल्म “ कन्ज्यूरिंग”  जो कि एक प्रेमी जोड़े की कहानी है। इसके बाद तीसरी फिल्म आती है “ कॉन्ट्रैक्टिड” जो कि एक रेप पीड़ित लड़की की कथा है। इस प्रकार पिछले कुछ सालों में भी बेहद डरावनी भूतिया फिल्में आई हैं। विज्ञान के इस बढ़ते युग में भी इन फिल्मों का इतनी कामयाबी हासिल करना यह बात साफ जाहिर करता है कि आज के युग में भी लोगों का भूत प्रेत पर विश्वास कायम है। चाहे विज्ञान ने कितनी तरक्की क्यों ना कर ली हो।


Bhoot wali film

अब यह तो हुई हॉलीवुड याने की विश्व स्तर के फिल्मों की बात। अब हम अगर अपने देश के याने की भारत की फिल्मों के बाद के करें तो, हम देखेंगे कि भारत में भूत - प्रेत का चलन कुछ ज्यादा ही है। अक्सर गांव या बड़े बड़े शहरों में भी हम देखते हैं कि जरा सा कुछ होता है तो लोग कहते हैं कि नजर लग गई यानी कि कहीं ना कहीं अंधविश्वास लोगों के मन में घर बनाकर बसा हुआ है। विज्ञान के इस बढ़तें युग में भी भारत जैसे देश में इसका प्रचलन चल ही रहा है। भारत में एक से बढ़कर एक बेहतरीन भूतिया फिल्में बनी है।इन भूतिया फिल्मों में सबसे मशहूर फिल्में है ragini.mms 2, घुटन, वीराना, बंद दरवाजा, द एविल रिटर्न्स। यह बॉलिवुड की कुछ ऐसी फिल्में है जिनमें भूत-प्रेत जैसी काल्पनिक चीजें दिखाई गई है। इन फिल्मों में कुछ प्रेम कहानियां हैं तो कुछ बदले की आग में जलती आत्मा बनने की कहानियां।

Bhoot wali film

इस प्रकार ज्यादातर अगर देखा जाए तो चाहे बॉलीवुड हो हॉलीवुड हो या कोई भी फिल्म इंडस्ट्री हो ज्यादातर फिल्में किसी ना किसी कहानी पर आधारित होती है। यह कहानियां बदला हो सकती है, प्रेम हो सकती है या किसी का कुछ कर गुजरने का पागलपन का जुनून भी हो सकता है। ज्यादातर किसी भी आत्मा के मृत्यु के पश्चात धरती पर रह जाने का कारण बदला या प्रेम ही होता है। वैसे तो भूत, प्रेत या आत्मा दो प्रकार की होती है, एक तो अच्छी होती है जो लोगों का भला करती हैं, और दूसरी वे आत्माएं होती है जो लोगों को तकलीफ देकर अपनी शक्तियां बढ़ाकर इस संसार पर अपना राज्य स्थापित करना चाहती है। अक्सर इन दोनों शक्तियों के मध्य युद्ध को लेकर ही एक भूतिया फिल्में बनाई जाती है। कि किस प्रकार अच्छाई की बुराई पर जीत होती है। इस बात को आधार कर कोई भी कहानी पर अलग अलग पात्र गढ़े जाते हैं, और अंत में उस कहानी का परिणाम दर्शकों के सम्मुख प्रस्तुत किया जाता है। पूरी कहानी के मध्य चल रहे सारे ट्विस्ट ही दर्शकों को बांधे रखते हैं।

Very nice post sir really good <a href="https://www.sciencesfacts.com/2019/12/delhi-play-bazar.html">delhi play bazaar</a> <a href="https://www.sciencesfacts.com/2019/12/satta-patta-matka.html">satta patta matka</a> <a href="https://www.sciencesfacts.com/2019/12/md-lottery.html">lottery kerala result</a> <a href="https://www.sciencesfacts.com/2019/12/kalyan-result-satta.html">kalyan result satta</a> <a href="https://www.sciencesfacts.com/2019/12/kalyan-fast-result.html">kalyan fast result</a> <a href="https://www.sciencesfacts.com/2019/12/play-bazaar-delhi.html">play bazar Delhi</a> <a href="https://www.sciencesfacts.com/2019/12/play-bazaar.html">play bazar</a> <a href="https://www.sciencesfacts.com/2020/01/play-bazaar-chart-risult-chart-all-dl.html">play bazar chart</a> <a href="https://www.sciencesfacts.com/2020/01/kalyan-result-matka.html">kalyan result matka</a> <a href="https://www.sciencesfacts.com/2020

Bhoot wali film

Comments